नई दिल्ली: ब्रिक्स वर्चुअल सम्मेलन (Brics Virtual Summit 2020) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आतंकवाद पर बड़ा बयान दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है, आतंकवाद और आतंकवाद समर्थक मुल्कों का विरोध होना चाहिए. पीएम मोदी ने इस समस्या का संगठित तरीके से मुकाबला किया जाने की जरूरत बताई. इसके अलावा पीएम मोदी ने कोरोना संकट (Coronavirus) से लेकर आर्थिक मोर्चे पर सफलता के लिए किए जाने वाले प्रयासों की भी चर्चा की.

ब्रिक्स सम्मेलन की प्रमुख बातें
1.    आतंकवाद आज विश्व के सामने सबसे बड़ी समस्या है. हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि आतंकवादियों को समर्थन और सहायता देने वाले देशों को भी दोषी ठहराया जाए और इस समस्या का संगठित तरीके से मुकाबला किया जाए.

2.    डब्ल्यूएचओ, डब्ल्यूटीओ  और आईएमएफ  जैसे इंस्टीट्यूशन्स में सुधार होना चाहिए.

3.    संयुक्त राष्ट्र संघ में बदलाव जरूरी, विश्व व्यापार संगठन में भी सुधार की आवश्यकता.

4.    भारत ने ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान के तहत एक व्यापक बदलाव की प्रक्रिया शुरू की है. यह अभियान इस विश्वास पर आधारित है कि एक आत्मनिर्भर भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए मददगार साबित हो सकता है. भारत ग्लोबल वैल्यू श्रंखला में एक मजबूत योगदान दे सकता है.

5.    भारत ने COVID-19 के दौरान भी आत्मनिर्भरता का उदाहरण दिया. भारतीय फार्मा उद्योग की क्षमता के कारण हम 150 से अधिक देशों को आवश्यक दवाइयां भेज पाए.

6.    हमारी वैक्सीन उत्पादन और डिलीवरी क्षमता भी इस तरह मानवता के हित में काम आएगी.

7.    आज मल्टीलेटरल सिस्टम एक संकट के दौर से गुजर रहा है. इसमें अभी भी उचित बदलाव नहीं आया है. सिक्योरिटी कौंसिल में रिफॉर्म्स बहुत ही अनिवार्य है और इसमें ब्रिक्स पार्टनर्स के समर्थन की जरुरत है.

8.    2021 में BRICS के 15 वर्ष पूरे हो जाएंगे. पिछले सालों में हमारे बीच लिए गए विभिन्न निर्णयों का मूल्यांकन करने के लिए एक रिपोर्ट बनाई जा सकती है.

9.    इस साल की ब्रिक्स सम्मेलन की थीम प्रासंगिक और दूरदर्शी है, ब्रिक्स की भूमिका अहम होगी.

LIVE TV





Source link

You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: