Hindi News

Terrorists shot at BJP Yuva Morcha general secretary and 2 activists | कश्मीर के कुलगाम में आतंकी हमला: भाजपा युवा मोर्चा के महासचिव और 2 कार्यकर्ताओं को आतंकियों ने गोली मारी  



डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू और कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कार्यकर्ताओं की हत्या के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब कुलगाम में आतंकवादियों ने BJP युवा मोर्चा के महासचिव समेत 3 नेताओं की हत्या कर दी। फिदा हुसैन युवा मोर्चा के महासचिव थे। आतंकियों ने फिदा हुसैन समेत बीजेपी के दो नेताओं पर फायरिंग की।आतंकियों ने घटना को उस वक्त अंजाम दिया जब ये तीन अपने घर की ओर जा रहे थे। 

मारे गए नेताओं की पहचान फिदा हुसैन, उमर राशीद बेघ और उमर रमजान के तौर पर हुई है। घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी मच गई है। पुलिस और सेना ने पूरे इलाके को घेर कर सर्च आपरेशन शुरू कर दिया है। वहीं पुलिस ने इस मामले में संबंधित धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज कर आगे की जांच में जुट गई है।

शुरुआती जानकारी के मुताबिक बीजेपी युवा मोर्चा के महासचिव फिदा हुसैन उमर रमजान और हारून बेग के साथ थे। जब ये तीनों बाईके पोरा इलाके के पास पहुंचे तो वहां घात लगाए आतंकियों ने इन पर गोलीबारी कर दी। हमले को अंजाम देने के बाद आतंकी वहां से फरार हो गए। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस टीम ने तीनों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने इन्हें मृत घोषित कर दिया।

पहले भी आतंकियों के निशाने पर रहे हैं भाजपा नेता 
इस हमले के बाद एक बार फिर से कश्मीर में बीजेपी के नेताओं में दहशत है। बता दें कि इससे पहले 6 अक्तूबर को भी भाजपा उपाध्यक्ष पर आतंकियों ने हमला किया था, जिसमें उनकी मौत हो गई थी। 

मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले के नुनार इलाके में आतंकवादियों ने 6 अक्तूबर को भाजपा के जिला उपाध्यक्ष गुलाम कादिर राथर के घर पर हमला किया था। जिसमें उनके साथ तैनात पीएसओ ने तत्काल जवाबी फायरिंग की जिसमें अज्ञात आतंकी मारा गया।  क्रॉस फायरिंग में पीएसओ भी शहीद हो गया था। 

गांदरबल के एसएसपी खलील पोसवाल ने जानकारी दी थी कि नुनार इलाके में भाजपा के जिला उपाध्यक्ष गुलाम कादिर राथर अपने घर पर थे। उसी समय आतंकियों ने उनपर हमला कर दिया था। कादिर की सुरक्षा में तैनात जम्मू-कश्मीर पुलिस के कांस्टेबल मोहम्मद अल्ताफ ने तत्काल जवाबी कार्रवाई करते हुए एक अज्ञात आतंकी को मार गिराया था। हालांकि इस घटना में मोहम्मद अल्ताफ भी शहीद हो गए थे।



Source link

You may also like

%d bloggers like this: